Wed. Nov 25th, 2020

🤲🏻 दुआ की क़ुबूलियत का ज़बरदस्त तरीक़ा 🤲🏻

100% Guarante Tarike Dua Kabul karne ka

पिछले दिनों एक जगह जाना हुआ तो रास्ते में एक छोटी सी मस्जिद में नमाज़ के लिए रूका, दोपहर का वक़्त था, आदत के मुताबिक़ पहली सफ़ में बैठा तो मेरे बराबर में एक बुज़ुर्ग बैठे थे चेहरे पर नुर था, मैंने सोच लिया कि नमाज़ के बाद इनसे ज़रूर मिलूंगा।

जमात ख़त्म हुई तो वह मस्जिद के एक कोने में क़ुरआन शरीफ़ लेकर बैठ गए, मैं हिम्मत करके क़रीब गया और सलाम किया और पूछा उर्दू मालूम है? उन्हें बहुत अच्छी तरह उर्दू आती थी, उनका तअल्लुक़ यमन से था…
किस्सा मुख़्तसर बहुत सी बाते हुई, उठते वक़्त मैंने उनसे पूछा कि बड़े साहब! दुआ क़ुबूल होने का कोई बेहतरीन तरीक़ा तो बताए? कहने लगे: 100% दुआ की क़ुबूलियत का नुस्ख़ा बताऊ?
सुनकर मेरे रोंगटे खड़े हो गए।
कहने लगे: अल्लाह तआला रद्द ही नहीं करता!

मैंने बेचैन होकर कहा! जी बिस्मिल्लाह…

कहने लगे: मियां! हर नमाज़ में सबसे पहले अपने मां बाप के लिए दुआ मांगो, चाहे वह ज़िन्दा हो या मुर्दा।

क्योंकि अल्लाह तआला के पास तुम्हारे लिए उनकी दुआएं तब से जमा हो रही होती हैं जब से तुम पैदा हुए हो।

कहने लगे: यह अमल आज से ही करके देखो।

दूर से धुंआ देखा है ना, जैसे जैसे उसके क़रीब जाओ वह मिटता जाता है, दुआ के इस अमल से तुम्हारी ज़िंदगी की परेशानियां इसी धुंए की तरह मिटती जाएंगी इन शा अल्लाह…

यक़ीन करे उस दिन के बाद से मैंने एक बार भी नागा़ नहीं किया और रास्ते ऐसे खुल रहे है जैसे सुबह रात को काट कर रौशनी फैलाती है…

अपनी ख़ुसूसी और अनमोल दुआओं में उम्मते मुस्लिमा को भी याद रखे
👇सबको भेजें👇

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *